UP इलेक्शन 2022 ; विधान सभा 2022 मतदाताओं में एक बड़ा वर्ग ऐसा भी है जो जाती व धर्म से परे लाभार्थी वर्ग के रूप में सामने है।

0
358

यूपी में इन दिनों चुनावी शोर है। बिजली, कानून व्यवस्था और सड़कों की चर्चा भले ही नेताओं के भाषणों का हिस्सा नहीं बन रही लेकिन, मतदाता की पहली पसंद उसकी सुख-सुविधाएं बनी हैं। इसमें जाति व धर्म की दीवारें भले टूट न रही हों, दरक जरूर गई हैं। विश्वास न हो तो बस्ती जिले के महादेवा विधान सभा के भड़ारी मुस्ताकम निवासी अब्दुल अयूब की जुबानी सुनिए …। अब्दुल गांव के क्षेत्र पंचायत सदस्य भी हैं और बेबाकी से कहते हैं कि भाजपा सरकार की सभी विकास योजनाओं का लाभ उन्हें व गांव के अन्य लोगों को मिल रहा है। प्रदेश में किसकी सरकार बन सकती है इस सवाल पर बोले, सरकार भाजपा की बनेगी और बन रही है। वैसे यूपी का लाभार्थी वर्ग चुनाव में किस करवट बैठेगा ये दस मार्च को तय होगा।

अब पूरब में चुनावी बिसात बिछ चुकी है। वोट हथियाने के लिए सभी राजनीतिक दल एक-दूसरे को शह और मात देने का हर जतन कर रहे हैं। मतदाताओं को अपने-अपने चश्मे से जाति व धर्म के आधार पर देखा जा रहा। फलां इस जाति के हैं तो उनके साथ होंगे या फलां इस धर्म के हैं तो इनके साथ होंगे। इसी आधार पर हार-जीत का गुणा गणित लगाने का भी दौर जारी है। मतदाताओं में एक बड़ा वर्ग ऐसा भी है जो जाति व धर्म से परे लाभार्थी वर्ग के रूप में सामने है। ये नया वर्ग चर्चा और तरह-तरह के समीकरणों से दूर है, लेकिन आबादी में भरपूर है। इतना ही नहीं इनका कुनबा लगातार विस्तार ले रहा है, जो सत्ता का खेल बना या बिगाड़ सकता है। ठीक वैसे ही ख्वाहिशों का मुहल्ला बड़ा था, हम जरूरतों की गली से मुड़ गए।

उधर, रुधौली विधान सभा के युवा मोहम्मद खालिद कहते हैं कि शौचालय घर में है लेकिन सरकार से नहीं मिला है। बरसालान शाही के सईद खान कहते हैं कि उन्हें सरकार से कुछ भी लाभ नहीं मिला है, बिजली, पानी, सड़क, शिक्षा सब खराब ही है। किसकी सरकार बनाएंगे के सवाल पर बोले, अखिलेश यादव आ रहे हैं। गंधरिया फैज के कमरुद्दीन कहते हैं कि सिर्फ बातें हैं हमें सरकार से कोई लाभ नहीं मिला। हालांकि कानून व्यवस्था ठीक है। यह भी कहते हैं कि वे भाजपा को फिर से चुनेंगे। इसी गांव के निसार कहते हैं कि अपने को कौन लाभ मिला है, राशन कार्ड है लेकिन राशन दिया नहीं जा रहा। कानून व्यवस्था के सवाल पर बोले, ठीकै है। सरकार किसकी बनेगी पर बोले, देखो क्या होता है?

चुनिंदा योजनाओं में लाभार्थियों की तादाद

प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास 40 लाख से अधिक
मुख्यमंत्री आवास योजना डेढ़ लाख से अधिक
उज्ज्वला योजना में लाभार्थी एक करोड़ 67 लाख
मुफ्त राशन योजना के लाभार्थी लगभग 15 करोड़
अब तक एक करोड़ 67 लाख निश्शुल्क गैस कनेक्शन
दो करोड़ 55 लाख किसानों को किसान सम्मान निधि