हमेशा सुर्खियों में रहनेवाला गोपालगंज जिला एक बार फिर चर्चा में है. यहां फर्जी दस्तावेंजों के आधार पर सिम कार्ड जारी करने का मामला सामने आया है.

0
123

फर्जी दस्तावेजों के आधार पर सिम कार्ड लेने वाले 106 लोगों के विरुद्ध बड़ी कार्रवाई की गयी है. गोपालगंज के एसपी आनंद कुमार के निर्देश पर अलग-अलग थानों में 12 एफआइआर दर्ज कराये गये हैं. इनमें मोबाइल सिम कार्ड कंपनियों के रिटेलर और ग्राहक शामिल हैं. यह कार्रवाई खुफिया विभाग की रिपोर्ट पर की गयी है. फर्जी दस्तावेजों पर सिम कार्ड लेने के पीछे क्या मंशा है इसका पता लगाया जा रहा है.

गोपालगंज. हमेशा सुर्खियों में रहनेवाला गोपालगंज जिला एक बार फिर चर्चा में है. यहां फर्जी दस्तावेंजों के आधार पर सिम कार्ड जारी करने का मामला सामने आया है. खुफिया विभाग की रिपोर्ट पर पुलिस ने एक्शन लेते हुए अलग-अलग थानों में 12 एफआइआर दर्ज करायी है. गोपालगंज के एसपी आनंद कुमार के अनुसार, इनमें 106 लोगों को अभियुक्त बनाया गया है. कटेया थाने में 20 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है, जबकि बैकुंठपुर थाने में सात, मांझागढ़ और थावे थाना समेत अलग-अलग थानों में कुल 106 लोगों के विरुद्ध एफआइआर दर्ज की गयी है.

दरअसल, गोपालगंज में हाल के दिनों में एनआइए ने कई बड़ी कार्रवाई की है. लश्कर-ए-तैयबा आतंकी संगठन से जुड़े मांझागढ़ थाने के पथरा गांव निवासी जफर अब्बास और शेख अब्दुल नईम समेत कई स्लीपर सेल के सदस्यों को गिरफ्तार कर ले गयी.

इनके पास से फर्जी दस्तावेजों पर जारी हुए कई सिम कार्ड भी मिले. इस कार्रवाई के बाद खुफिया विभाग ने जांच शुरू की. छानबीन में फर्जी दस्तावेजों पर 106 लोगों के नाम से सिम कार्ड जारी करने का खुलासा हुआ.इसके बाद एसटीएफ जांच कर सिम धारकों और रिटेलरों पर कार्रवाई शुरू की है.