पी एन कॉलेज परसा में प्राचार्य की सक्रियता से नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी की इकाई खोलने की स्वीकृति मंजूर

0
21

प्रभुनाथ महाविद्यालय परसा में नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी की इकाई खोलने की स्वीकृति प्राप्त हुई है। इससे इस क्षेत्र के विद्यार्थियों को काफी फायदा होगा क्योंकि जो स्टूडेंट अपने नजदीकी कॉलेजों में नामांकन के लिए सेलेक्ट नहीं हुए हैं वैसे विद्यार्थी नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी इकाई से अपना नामांकन करा कर किसी भी विषय में स्नातक की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं। इस यूनिवर्सिटी के तहत 125 कोर्स में विद्यार्थी अपना नामांकन करा सकते हैं और उसका फायदा उठा सकते हैं ।यह महती कार्य प्रभुनाथ महाविद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर पुष्पराज गौतम के क्रियाशीलता का ही परिणाम है। वह शैक्षणिक गतिविधियों को लेकर महाविद्यालय के लिए हमेशा प्रयासरत रहते हैं इसी कड़ी में उनके प्रयास के फल स्वरुप ही नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी की इकाई को प्रभुनाथ महाविद्यालय में स्वीकृति मिल सकी है। जो परसा और इसके आसपास के विद्यार्थियों के लिए किसी उपलब्धि से कम नहीं।…

नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी की इकाई डिस्टेंस मॉड की होगी।अब विद्यार्थी घर बैठे काउंसिलिंग और स्टडी मैटेरियल के जरिए स्नातक की 125 विषयों में पढ़ाई कर सकेंगे। जैसे सामान्य स्नातक प्रतिष्ठा कोर्स, लाइब्रेरियन, B.Ed, डीएलएड इत्यादि । सुदूर ग्रामीण क्षेत्र में होने के कारण सीमित विषयों में ही महाविद्यालय में पढ़ाई होती थी, जिसके कारण विद्यार्थी मनचाहा कोर्स नहीं कर पाते थे। लेकिन प्राचार्य डॉक्टर पुष्पराज गौतम ने इन समस्याओं को बहुत ही गंभीरता से लिया और वह पिछले 4 सालों से इसके लिए प्रयास करते रहे तब जाकर आज नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी की इकाई को प्रभुनाथ महाविद्यालय में स्वीकृति मिल सकी ।आज नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी के चीफ कोऑर्डिनेटर प्रोफेसर डॉक्टर रियाजुद्दीन साहब की उपस्थिति में प्राचार्य डॉ पुष्पराज गौतम को कोऑर्डिनेटर, विकास रंजन को असिस्टेंट कोऑर्डिनेटर, विनोद कुमार एवं संजय राय को सहायक बनाया गया है।
नालंदा खुला विश्वविद्यालय पटना के जांच टीम के द्वारा महाविद्यालय में आकर सर्वे किया गया और महाविद्यालय परिवार के द्वारा उन्हें संतुष्ट किया गया ।
प्रचार्य डॉ पुष्पराज गौतम के द्वारा परसा सदूर इलाको के बिद्यार्थी के उच्च शिक्षा के लिए ओपन यूनिवर्सिटी का स्टडी सेंटर खोलने के निर्णय से विद्यार्थियो में खुशी का माहौल है क्युकी अब त जयप्रकाश विश्वविद्यालय के नामांकन से वंचित छात्र छात्राओं का पढ़ाई हो सकेगी…और इसका पूरा श्रेय पी एन कॉलेज के प्राचार्य डॉ पुष्पराज गौतम की सकारात्मक सक्रियता से हीं संभव हो सका है..