कश्मीरी शिक्षकों ने अरविंद केजरीवाल के दावे पर उठाए सवाल, बोले- अंतिम विकल्प तक डाली रुकावट।

0
175

गवर्नमेंट स्कूल टीचर्स एसोसिएशन (माइग्रेंट) रजिस्टर्ड ने बयान जारी कर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बयान की निंदा की है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि उनकी सरकार ने कश्मीर के प्रवासी शिक्षकों की सेवा नियमित की। केजरीवाल के इस दावे पर कश्मीरी पंडित शिक्षक संघ ने प्रतिक्रिया व्यक्त की है। कश्मीरी पंडित शिक्षक संघ ने दिल्ली के मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि वे लोगों को गुमराह कर रहे हैं।

गवर्नमेंट स्कूल टीचर्स एसोसिएशन (माइग्रेंट) रजिस्टर्ड की ओर से बयान जारी कर अरविंद केजरीवाल के बयान की निंदा की गई है। संगठन की ओर से कहा गया है कि कश्मीरी प्रवासी अध्यापकों ने नियमितीकरण की मांग को लेकर 6 जून 2010 को दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी। दिल्ली हाईकोर्ट के जज ने 18 मई 2015 को कश्मीरी शिक्षकों की सेवा नियमित करने की मांग के पक्ष में फैसला सुनाया।

एसोसिएशन के मुताबिक हाईकोर्ट के इस फैसले को दिल्ली सरकार ने डबल बेंच में चुनौती दी। 21 मई 2018 को दिल्ली हाईकोर्ट की डबल बेंच ने दिल्ली सरकार को कश्मीरी पंडितों की सेवाएं नियमित करने का आदेश दिया। एसोसिएशन के मुताबिक दिल्ली सरकार की ओर से दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के मुताबिक कश्मीरी प्रवासी शिक्षकों की सेवाएं नियमित करने का बार-बार आश्वासन दिया।इसके बावजूद दिल्ली सरकार ने इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में भी चुनौती दी।