अगर अबतक अपने पुराने लाइसेंस को स्मार्ट ड्राइविंग लाइसेंस में नहीं बदलें, तो जानिए आसान स्टेप्स

0
16

नए और पुराने चालकों के लिए वाहन चलाने वाले अनिवार्य दस्तावेजों में ड्राइविंग लाइसेंस सबसे महत्वपूर्ण है और ये काम RTO से पूरा होता है, इसके बाद आप सड़क पर वाहन चलाने के लिए कानूनी रूप से मान्य होते हैं. हममे से ज्यादातर लोगों के पास पहले से ड्राइविंग लाइसेंस हैं, लेकिन ये सामान्य ड्राइविंग लाइसेंस होते हैं. अब जमाना स्मार्ट ड्राइविंग लायरेंस का आ चुका है, इसमें माइक्रो चिप लगी होती है और इस चिप को स्कैन करते ही संबंधित व्यक्ति की सारी जानकारी सामने आ जाती है.

स्मार्ट ड्राइविंग लाइसेंस में व्यक्ति का बायोमेट्रिक डेटा डाला जाता है जिसमें फिंगर प्रिंट, ब्लड ग्रुप और रेटीना स्कैन जैसी जानकारियां शामिल हैं. तो अगर आप भी अपने सामान्य DL को स्मार्ट DL में बदलना चाहते हैं तो हम इस खबर में आपको कुछ आसान स्टेप बता रहे हैं. इन आसान स्टेप्स को फॉलो करने पर आपको स्मार्ट ड्राइविंग लाइसेंस जारी कर दिया जाएगा. बता दें कि इस प्रक्रिया की शुरुआत एक आवेदन से होती है जिसके बाद आपको शुल्क जमा करना होता है और इसका आवेदन शुल्क 200 रुपए है.

  1. सबसे पहले स्टेट ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं, यहां आपको ‘ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर स्मार्ट कार्ड’ विकल्प दिखेगा. यहां से स्मार्ट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अवेदन डाउनलोड करें.
  2. डाउनलोड किए फॉर्म को भरें और जरूरी डॉक्युमेंट लगाकर इस फॉर्म को RTO दफ्तर जाकर जमा करें.
  3. फॉर्म जमा करने के बाद आपको इसके लिए 200 रुपए शुल्क भरना होगा और यहां से आप ड्राइविंग टेस्ट देने के लिए शेड्यूल बुक करते हैं.
  4. ड्राइविंग टेस्ट पास करने के बाद आपको रेटीना स्कैनिंग, फिंगर प्रिंट और फोटो का बायोमेट्रिक देना होगा.
  5. इसके बाद आपको कुछ करने की जरूरत नहीं है, RTO विभाग द्वारा अपाके रजिस्टर्ड पते पर स्मार्ट ड्राइविंग लाइसेंस कुछ ही दिनों में भेज दिया जाएगा