समाजसेवी कमलेश राय का दावा,परसा के इतिहास में जिला परिषद इनकी पत्नि रीता देवी जैसा कोई नहीं,सच जानिए

0
21

आज के इस खास कार्यक्रम पंचायत एक्सप्रेस में हम फिर रूख कर रहें है सारण के परसा विधानसभा अन्तर्गत जिला परिषद 36 परसा पूर्वी भाग दो के युवा समाजसेवी कमलेश राय और जिला परिषद प्रत्याशी इनकी पत्नि रीता देवी  की ओर..
आपको बता दें और लोगों की माने तो कमलेश राय कर्मठ हैं, लोगों के दुख दर्द में शामिल रहने वाले निःस्वार्थ सेवा करने वाले क्षेत्र के पहले समाज सेवी हैं जिनकी सेवा भावना का ही नतीजा है कि इनकी पत्नि पिछले चुनाव में जिला परिषद प्रतिनिधि के रूप में चुनी गयी और क्षेत्र में हरसंभव बदलाव और विकास करने का इनका प्रयास सफल रहा.

आपको बता दें कि टीडी न्यूज़ के तरफ से चल रहें मुहिम पंचायत एक्सप्रेस के माध्यम से हमारी टीम यह जानने की कोशिश की कि इस पद के मद्देनजर यकीनन क्षेत्र में विकास हुआ है या नही.. कमलेश राय की बातों में कितनी सच्चाई है यह जानने के लिए क्षेत्र की जनता से बात की गयी

हमने यह भी देखा कि हरदिल अजीज यह युवा कमलेश राय का नाम आज जिले के लगभग सभी युवा और आम जनता के जुबान पर..है. पर सच्चाई को दिखाना चुनाव के इस माहौल में हमारा कर्तव्य भी है और धर्म भी,लिहाजा हमारी टीम इस मुहिम के मद्देनजर लगातार चलती रही और जिला परिषद प्रतिनिधि रीता देवी की सकारात्मक सक्रियता का प्रभाव क्षेत्र के महिलाओं से भी जानने की कोशिश की.
समाजसेवा  करते हुए आम गरीब  जनता में खास पहचान स्थापित करने कमलेश राय ऐसे समाजसेवी हैं जिन्होने खासतौर पर आम ग़रीब निस्सहाय जनता के लिए वो चाहे कोरोना काल हो,बाढ़ की समस्या हो, स्वरोजगार हो या स्वास्थ्य की समस्या हो हरसंभव सेवा देने का प्रयास किया है और क्षेत्र में विकास का  संकल्प लिया है.

हमेशा से दिन दुखियों के दुख में सहायता करने वाले युवा कमलेश राय राजनीतिक स्तर पर भी बेहद सक्रिय हैं और समय समय पर जरूरतमंद लोगों को मदद करने हेतु तत्पर रहते हैं.
यही कारण है कि महिलाओं सहित बुजुर्ग और युवाओं की तादाद पति-पत्नि के इस जोड़ी के साथ हैं और इसलिए क्षेत्र में विकास के साथ बदलाव का शंखनाद गूंज रहा है.

कुलमिलाकर बेहतर शिक्षा व्यवस्था, स्वास्थ्य सुविधा, स्वरोजगार और क्षेत्र के विकास के लिए तत्पर युवा समाजसेवी कमलेश राय और इनकी पत्नि जिला परिषद प्रत्याशी रीता देवी जाती धर्म से ऊपर उठ मानवता के उत्थान के लिए तत्पर सच्चाई के साथ अपने पिछले चुनाव के वादे पर खड़े उतरे हैं और इसी अपेक्षा में इस बार भी समर्थन मांग रहें हैं.
हलाकि सातों पंचायत की जनता इनके साथ है.
हालाकि हमारी मुहिम पंचायत एक्सप्रेस के माध्यम से लगातार जारी रहेगी जिसमे हम अन्य सभी से प्रतिक्रिया लेते रहेंगे.