आखिर क्यों है टीम इंडिया की इतनी बुरी हालत ?

0
157

दक्षिण अफ्रीका में भारत की बुरी तरह से हार के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के सिमित ओवरों के खेल में उनकी स्थिति का पटटा चल गया है। भले ही रवि शहतृ और पूर्व कप्तान विराट कोहली इस बात पर जोड़ दे रहें हो की उन्होने भारतीय क्रिकेट टीम को मजबूत किया है परन्तु पिछले कुछ वर्षों से भारतीय क्रिकेट टीम के सिमित ओवरों में परफॉर्मेंस को देखते हुए यह कहा जा सकता है की भारतीय वनडे टीम को काफी सुधार की जरुरत है। बात 2015 विश्व कप की करे या 2019 विश्व कप की दोंनो में भारत ने अच्छी शुरुआत की मगर अंत तक आते आते टीम ध्वस्त होनी शुरू हो गए इसके अलावे 2021 के टी-20 विश्व कप की बात करे तो इसमें भी बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा। अब सवाल यह है की अगर भारतीय क्रिकेट टीम के सिमित ओवरों में परफॉरमेंस ठीक नहीं है तो आगामी मैचों में जीत की उम्मीद कैसे किया जा सकता है। हालाँकि यह भी देखा गया है की पिछले कुछ समय में भारतीय क्रिकेट टीम में बदलाव का दौर चल रहा है।

कई नए खिलाड़ियों को मौका दिया जा रहा है जिन्हे कुछ वक़्त लग सकता है अपना बर्चस्व कायम करने में। परन्तु एक बार फिर यह सवाल उठता है की जो अनुभवी खिलाड़ी है उनके परफॉरमेंस में कमी को कब तक झेला जाएगा?दलाव के दौर से गुजर रही दक्षिण अफ्रीकी टीम ने एक मजबूत भारतीय टीम को 3-0 से हरा दिया. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस हार ने भारतीय टीम के सामने सीमित ओवरो में अपनी रणनीति और टीम बैलेंस को लेकर कई सवाल खड़े कर दिए हैं।अगर भारतीय टीम के टेस्ट मैचों की बात की जाए तो टेस्ट में भारतीय टीम का प्रदर्शन संतोषजनक रहा है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी टीम कई मौकों पर बेहतर साबित हुई… लेकिन नाजुक मौकों पर खराब खेल ने नतीजे में बदलाव ला दिया. इससे पहले टीम इंडिया ने टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया में लगातार 2 सीरीज जीत दर्ज की, जबकि इंग्लैंड में 2-1 से सीरीज में आगे रह। भारतीय टीम ने एक लम्बे समय तक टेस्ट मैचों की बादशाहत की हालाँकि 2021 के विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में भारत को हार का सामना करना पड़ा था। बहरहाल टीम इंडिया को आगामी आने वाले मैचों के लिए एक बेहतर टीम के रूप में तैयार होकर उभारना होगा। आज के टीडी स्पोर्ट्स में इतना ही देखते रहें टीडी न्यूज़।