ओलिंपिक में मिली हार के बाद भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बढ़ाया खिलाड़ियों का हौसला

0
37

जापान के टोक्यो शहर में चल रहे ओलम्पिक 2020 में भारत का प्रदर्शन अब तक काफी निराशाजनक रही है ,भारत के खाते में अब तक केवल एक ही मैडल आये हैं हालाँकि कुछ खिलाड़ियों ने अपने अपने खेल इकाई में दूसरे राउंड में जित कर पदक के लिए भारत की उमीदें बढ़ा दी है जबकि कई खेलों से उमीदे ख़त्म नजर आ रही है । तलवारबाजी में भारत को प्रदर्शित करने वाली खिलाड़ी भवानी देवी को उनके हार के बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें शुभकामनाये दी और उनके योगदान को महत्वपूर्ण बताया । दरअसल भवानी देवी ने अपनी हार के बाद ट्वीट कर के देश से माफ़ी मांगी और लिखा की ‘आज का दी मेरे लिए उत्साह और भावुक था । मैंने अपना बेहतरीन दिया और पहले राउंड में 15 / 3 से जीता पर दूसरे दौर में जित नहीं पाई और 7 /15 से हार गई । अगले ओलिंपिक में आप सब के उम्मीदों पर खरा उतरने की कोशिस करुँगी ।उनके इस ट्वीट के बाद प्रधान मंत्री नरेंद्र ने ट्वीट कर के उन्हें बधाई दी और कहा की आप ने अपना बेहतरीन दिया जित और हार तो जिंदगी का हिस्सा है आपके योगदान को भारत हमेशा याद रखेगा । तलवारबाजी के अलावा भारतीय महिला हॉकी टीम को भी लगातर दूसरी बार हार का सामना करना पड़ा । भारत और जर्मनी के बिच हुए इस मैच में जर्मनी ने भारत को 2-0 से हरा दिया । मैच के दौरान भारत शुरू से ही दबाव में रहा । भारतीय मेंस आर्चरी टीम की भी हालत कुछ ऐसी ही रही ।अतनु दास, प्रवीण जाधव और तरुणदीप राय की भारतीय मेंस आर्चरी टीम सोमवार को टीम स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में खिताब के प्रबल दावेदार दक्षिण कोरिया से हारकर टोक्यो ओलंपिक खेलों से बाहर हो गई। भारतीय तिकड़ी ने कजाखस्तान को 6-2 से हराकर दिन की अच्छी शुरुआत की थी, लेकिन क्वार्टर फाइनल में उनका सामना नंबर एक कोरिया से था जिससे उसे 0-6 से करारी हार का सामना करना पड़ा।

भर्तीअ डबल्स मेंस बैडमिंटन में भी भारत के तरफ से सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी भी कमाल नहीं दिखा पाई और मार्कस फर्नाल्डी गिडियोन और केविन संजय सुकामुल्जो की इंडोनेशिया की दुनिया की नंबर एक जोड़ी के खिलाफ सीधे गेम में शिकस्त का सामना करना पड़ा। हालाँकि अभी भी कुछ स्पर्धाओं से भारत के खाते में कुछ मैडल आ सकते हैं । भारत को अब तक एक सिल्वर मैडल मिला है जिसे भारत की वेटलिफ्टर मीरा बाई चानू ने जीता है ।भारत पदक तालिका में 34 वे नंबर पर है । हालाँकि यह मन जा रहा है की भारत पदक तालिका में ऊपर उठ सकता है दरअसल मीरा बाई चनु ने वेटलिफ्टिंग में सिल्वर जीता था तो वही चीन की वेइटलिफ्टर होउ ज़हीहुई ने गोल्ड मैडल जीता था मगर उनकी परफॉरमेंस को देखते हुए ओलिंपिक फेडरेशन ने उन्हें डोप टेस्ट के लिए रोक लिया है अब अगर वह डोप टेस्ट में फ़ैल हो जाती है तो मीरा बाई चानू का सिल्वर मैडल गोल्ड में तब्दील हो जाएगा और भारत पदक तालिका में ऊपर आ जाएगा । हालाँकि यह पहली बार नहीं है जब जीते हुए खिलाड़ी को डोप टेस्ट के लिए रोका गया है अक्सर ऐसे मामले सामने आते हैं ।बहरहाल डोप टेस्ट के रिजल्ट आने तक यह सस्पेंस बना रहेगा ओलिंपिक से जुडी हर खबर को हम आप तक पहुंचाते रहेंगे तब तक आप देखते रहिये टीडी न्यूज़ ।