मुझे आरजेडी से निकालने की हिम्मत किसी मेभी नहीं है ; तेजप्रताप

0
17

राजद के खेमे से भले ही तेजप्रताप को निकाल दिया गया है पर उसकी टिस तेजप्रताप को अबतक है । हालिया इंटरव्यू में अपने भाई तेजस्वी से किसी भी प्रकार के विवाद को गलत बताते हुए कहा की ”मेरा किसी से कोई विवाद नहीं है. मेरा विवाद नीतीश कुमार और आरएसएस के साथ है. परिवार अलग जगह है और राजनीतिक लड़ाई अपनी अलग जगह.। उन्होंने यह भी कहा की राजनितिक में ऐसा अक्सर होता है मगर इसका मतलब यह नहीं की मैं अब पार्टी का हिस्सा नहीं हु । उन्होंने आरजेडी उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी के बयान पर भी टिपण्णी की और कहा की वह जयप्रकाश नारायण के अनुयायी और कृष्ण भक्त हैं और उन्हें पार्टी से निकालने की हिम्मत किसी में नहीं है।

गौरतलब है की आरजेडी उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने मिडिया से बात करते हुए कह था की तेजप्रताप को आरजेडी से बाहर कर दिया गया है । समाजवादी नेता जयप्रकाश नारायण के जयंती के मौके पर तेजप्रताप ने पटना में जनशक्ति यात्रा निकाली. यहां पर वह नंगे पांव जेपी गोलंबर से चलकर जयप्रकाश नारायण के आवास पर पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि दी। तेजप्रताप का कहना है की . मुझे सत्ता का लोभ नहीं है. मैं बस जनता के लिए काम करना चाहता हूं.’ मुझे लोग दूसरा लालू कहते हैं और मेरी लोकप्रियता से कुछ लोग जलते हैं। इधर बेटों के बिच आपसी रंजिश को ख़तम करने के लिए कई महीनो बाद राबड़ी देवी कल पटना वापस लौटी हैं । अब देखना होगा की मान की बातों का कितना असर दोनों बेटों पर होता है ।