पटना एम्स की इस लापरवाही का खुलासा उस समय हुआ जब पीड़िता को पेट में दर्द की शिकायत हुई.

0
78

खुद जब भी पेशे से डॉक्टर पीड़िता ने जब अल्ट्रासाउंड करवाया तो पेट के अंदर रूई देख उसके होश उड़ गए. इस मामले में पुलिस से शिकायत भी की गई है.

पटना. पटना स्थित एम्स में डॉक्टरों द्वारा की गई लापरवाही का एक मामला सामने आया है. यहां ऑपरेशन के क्रम में एक महिला मरीज के पेट में ही रूई (कॉटन) छोड़ दिया गया. खास बात ये है कि पीड़िता भी मेडिकल लाइन से है और एम्स के गैस्ट्रो विभाग में इंटर्नशिप कर चुकी है. पीड़िता डॉ पूजा ने बताया लगभग 9 महीना पहले एम्स में गायनी विभाग में उन्होंने अपना इलाज करवाया था. उस दौरान इलाज तो हुआ लेकिन ऑपरेशन के दौरान उनके पेट में कॉटन छोड़ दिया गया.

जब परेशानी हुई तो टाका टूटने लगा और जब टांका टूटा तो उसे एम्स में फिर से दिखाया और फिर से टांका बांधकर एक पाइप लगा दिया गया. डॉक्टर पूजा के मुताबिक टाका टूट गया और फिर जब अल्ट्रासाउंड किया गया तो प्रॉब्लम नजर आई. पीड़िता डॉक्टर पूजा ने बताया कि एम्स की यह पांचवीं लापरवाही सामने आई है. जब एम्स में पूजा ने शिकायत की तो उनके साथ मारपीट भी की गई और केस करने की भी कोशिश की गई.

दरअसल पीड़ित महिला के खिलाफ कार्रवाई के लिए उसे थाना ले जाया गया हालांकि महिला ने भी लिखित शिकायत की है और गायनी विभाग के डीन सह एचओडी सहित डॉक्टर की टीम के ऊपर मामला दर्ज करने के लिए लिखित शिकायत फुलवारीशरीफ़ थाने में दिया है. हालांकि पुलिस ने अभी तक इस मामले को दर्ज नहीं किया है.

जब की पीड़िता पटना के दानापुर से सटे खगौल के ही सगुना की रहने वाली है. डॉक्टर पूजा खुद एम्स में एक साल की ट्रेनिंग ले चुकी है और फिलहाल मसौढ़ी में मेडिकल ऑफिसर है. उनके साथ एम्स में धक्का-मुक्की की गई और मारपीट भी की गई. इस मामले में पटना एम्स की तरफ से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है.