आने वाले तीन वर्षों में पटना को मिलेगा कई इंफ्रास्टक्टर की सौगात , आइये जानते है क्या गिरेगा पटना की झोली में।

0
150

आज से ज्यादा नहीं महज एक दसक पीछे जाकर हम पटना को देखे और आज के पटना से तुलना करे तो इसमें शायद जमीं आसमान का फर्क मिलेगा। और बात जब इंफ्रास्ट्रक्टर्स की हो तो यह कहना बिलकुल गलत नहीं होगा की बिहार ने काफी तरक्की कर ली। हालाँकि वक़्त के साथ हर शहर हर क्षेत्र विकास तो करता ही है परन्तु जिस तरह से पटना ने किया है यह काबिले तारीफ़ करे। अगर इंफ्रास्टक्टर में हम बात करे तो वो चाहे अंडरग्राउंड टनल हो , अटल पथ जैसी सड़क हो , जेपी सेतु हो ,महात्मा गांधी सेतु हो या पटना का मरीन ड्राइव हो। पटना की खूबसूरती इन इंफ्रास्ट्रक्टर्स के जरिये बढ़ी ही है। और यह खूबसूरती दिन प्रति दिन बढ़ेगी ही तो आइये जानते हैं पटना में कौन कौन सी नै इंफ्रास्ट्रक्टर्स भविष्य में देखने को मिलने वाला है।

पटना जिला और सारण जिला को जोड़ेगी 6 लेन वाला पुल

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने पटना और सारण जिलों को जोड़ने वाले शेरपुर और दिघवारा के बीच गंगा पर छह लेन के पुल के निर्माण के लिए बोली प्रक्रिया शुरू कर दी है. शेरपुर पटना जिले के मनेर ब्लॉक में है, जबकि दिघवारा सारण जिले में है। यह पटना और सारण जिलों को जोड़ने वाला गंगा पर दूसरा पुल होगा। पहला पुल जेपी सेतु है, जो नदी के पार दीघा और सोनपुर के बीच सड़क-सह-रेल पुल है। शेरपुर-दिघवारा पुल 14.250 किलोमीटर लंबा होगा और 4,994.79 करोड़ रुपये की धनराशि का उपयोग करके इसका निर्माण किया जाएगा।शेरपुर-दिघवारा पुल 14.250 किलोमीटर लंबा होगा और 4,994.79 करोड़ रुपये की धनराशि का उपयोग करके इसका निर्माण किया जाएगा।

2024 तक पटना मेट्रो रेल दो कोरिडोर पर चलने की उम्मीद

गौरतलब है की पटना मेट्रो को लेकर हर बिहार वासियों का इंतजार अब चरम सिमा पर है। दरअसल 2024 तक पटना मेट्रो रेलवे के दो कॉरिडोर पर चलने की उम्मीद की जा रही है। पटना के कलाई इलाकों में मेट्रो परियोजना पर काम चालू है। आपको बता दें की पटना मेट्रो के अंतर्गत कुल 26 मेट्रो स्टेशन बनाए जाने हैं। दानापुर से खेमनीचक तक बनने वाले कोरिडोर-एक में 14 जबकि पटना जंक्शन रेलवे स्टेशन से आइएसबीटी तक बनने वाले कोरिडोर-2 में 12 स्टेशन बनाए जाने हैं। दोनों ही कोरिडोर में दो-दो इंटरचेंज स्टेशन होंगे।

कई ओवरब्रिज का होगा निर्माण

पटना में ट्रैफिक को देखते हुए कई ओवरब्रिज के निर्माण के लिए बिहार सरकार और केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है। यह ओवरब्रिज किन किन जगहों पर बनेगा इसका निर्णय जल्द ही लिया जाएगा। पटना के अशोकराजपथ पर एक ओवरब्रिज का निर्माण होना तय है जबकि अन्य इलाकों में जहाँ ट्रैफिक की समस्या हमेशा बानी रहती है वहां भी ओवरब्रिज का निर्माण किया जाएगा।