आखिर क्यों है आतंकवादियों के निशाने पर गैर कश्मीरी नागरिक, पाकिस्तान चल रहा है कौन सी चाल

0
18

जम्मू काश्मीर में हो रहे गैर कश्मीरियों की हत्या ने सरकार के सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर दिया है । बीते कुछ दिनों में कश्मीर में कई आम नागरिकों की ह्त्या हुई है। इन हत्याओं के पीछे पाकिस्तान के तरफ से आतंकवादी गतिविधियां होने के कयास लगाए जा रहे हैं । दरअसल जम्मू-कश्मीर में सेना के एंटी-टेरर ऑपरेशन से बौखलाए आतंकी एक के बाद एक गैर-कश्मीरियों को निशाना बनाते जा रहे हैं ।रविवार को दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले में आतंकियों ने बिहार के रहने वाले दो मजदूरों की हत्या कर दी. दोनों मृतक राजा और जोगिंदर बिहार के रहने वाले थे। इसके पहले भी शनिवार को भी आतंकियों ने पुलवामा और श्रीनगर में दो लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी थी. श्रीनगर में बिहार के रहने वाले अरविंद कुमार को निशाना बनाया था । जबकि दूसरा मृतक उत्तरप्रदेश का रहने वाला था .

हालांकि यह पहला मामला नहीं है जब कश्मीर में किसी आम नागरिक की हत्या हुई है , इसके पहले भी कश्मीर में 5 आम नागरिको की हत्या की खबर सामने आई थी । अब सवाल यह है की आखिर सरकार अब तक इस्पे चुप्पी क्यों साधी हुई है और आतंकवादियों के खिलाफ कोई एक्शन क्यों नहीं ले रही है । हालाँकि की इस घटना के बाद सेना ने हाई अलेर्ट जारी कर दिया है और इसके साथ ही सर्च ओप्रेशन भी जारी है । इधर बिहारियों की मौत पर बिहार सरकार ने भी प्रतिक्रिया दी है । बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने भी उनके मौत पर शोक जताया और मृतकों को 2 ,2 लाख सहायता राशि देने की बात कही है । बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम माझी ने भी इस घटना की निंदा की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह से आग्रह किया की काश्मीर को बिहारियों को सौप दे 15 दिन के भीतर सब ठीक कर देंगे । बहरहाल अब देखना यह होगा की भारत सरकार इस घटना के बाद कौन से कदम उठाती है ।