महाराष्ट्र के बाद अब केरल में बारिश का तांडव अब तक 9 की गई जान

0
99

देश में बारिश और भूस्खलन के कारन होने वाली मौतों का अकड़ा दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है । पहले महाराष्ट्र में भूस्खलन और बाढ़ से 130 लोगों की जान गई और अब केरल में जमीं धसने से 9 लोगों की मौत हो गई है । जबकि 3 लोग अभी भी लापता है । महारष्ट्र में अभी बारिश थमा भी नहीं है की केरल में बारिश ने कोहराम मचा के रखा है । केरल में भी लगातार तीन दिनों से मूसलाधार बारिश हो रही है , कई इलाकों में पानी सर के ऊपर तकभर गया है । लोगो के दैनिक गतिविधिया तो दूर की बात उन्हें अपने और अपने परिवार के लिए दो वक़्त का भोजन जुटाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पर रहा है । 22 जुलाई से अब तक हुई मौतों में चार उत्तर कन्नड़ जिले के हैं, दो बेलगावी से और एक-एक चिक्कमगलुरु, धारवाड़ और कोडागु से हैं। उत्तर कन्नड़ में सात स्थानों पर, चिक्कमगलुरु में चार, कोडागु में तीन तथा शिवमोग्गा और हासन जिलों में एक-एक भूस्खलन हुआ है। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, 45 तालुकों के 283 गांवों में बारिश हुई है, जिससे 36,498 की आबादी प्रभावित हुई है। 

बारिश के कारण 2,600 से अधिक घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं और 78 जानवरों की मौत हुई है। गौरतलब है की केरल की 51.3 प्रतिशत जनता कृषि पर निर्भर है यानी आधे से ज्यादा आबादी खेती करती है ऐसे में लगातार हो रहे बारिश ने उनकी मुश्किलें बढ़ा दी है । दरअसल लगातार हो रहे बारिश के पानी से वहां के फसलों को काफी नुक्सान हुआ है । आंकड़ों को देखे तो राज्य में भारी बारिश और बाढ़ के कारण करीब 58,961 हैक्टेयर फसलों और 1,962 हैक्टेयर बागवानी को नुकसान पहुंचा है, जिससे 555 किलोमीटर से अधिक सड़क, 3,500 से अधिक बिजली के खंभे और 342 ट्रांसफार्मर भी क्षतिग्रस्त हो गए हैं। केरल के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा आज उन इलाकों का दौरा करेंगे जिन इलाकों में पानी भरा है इससे पहले शनिवार को उन्होंने उन जिलों के अधिकारीयों से बात की जिन जिलों में पानी भरा है और हालात का जायजा लिया । केरल सर्कार जल्द से जल्द लोगों के हिट में फैसला लेगी । बहरहाल आज के टीडी हलचल में इतना ही देखते रहें टीडी न्यूज़ ।