जीविका दीदियों को बिहार सरकार का एक और तोहफा , जीविका दीदियों को यह होगा फायदा

0
33

बिहार में नारी शशक्तिकरण और उनके उठान के लिए चलाये जा रहें बिभिन्न जीविका यानि स्वयं सहायता समूह में जीविका दीदियों के लिए बिहार सरकार ने एक और तोहफा दिया है दरअसल जीविका के माध्यम से राज्य में महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए किये जा रहे कार्यों में एक और योजना को शामिल किया गया है। इसके अंतर्गत जीविका से जुड़ी महिलाओं को गांवों में राशन दुकान चलाने में सहयोग दिया जा रहा है। इस योजना के तहत बिहार के 534 प्रखंडों में एक रूरल मार्ट खोलने का प्लान है । इसके तहत हर मार्ट में जीविका दीदियों द्वारा चलाये जा रहें राशन दुकानों के लिए वाजिब कीमत पर गुणवत्तापूर्ण सामग्रियां दी जाएंगी। ताकि वे अच्छी आय प्राप्त कर सकें। इसको लेकर ग्रामीण विकास विभाग ने जिलों को दिशा-निर्देश भी जारी किया है।

ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने इस योजना के बारे में जानकारी देते हुए कहा की राज्य में अभी इन रूरल मार्ट की संख्या ६१ है और जल्द ही यह राज्य के पुरे प्रखंड में स्थापित किया जायेगा। उन्होंने जानकारी देते हुए कहा की रूरल मार्ट के लिए न्यूनतम 25 जीविका सदस्यों का समूह बनाना होता है। इस समूह में सभी जीविका दीदियों को 5 ,5 हजार रुपये जमा करने होते हैं जिसके बाद इन्हीं सदस्यों को गांवों में राशन दुकान के लिए रूरल मार्ट से सामग्रियां दी जाती हैं। इस रूरल मार्ट के लिए बिहार सरकार के तरफ से १६ लाख का लोन भी उपलब्ध करा रही है । इस रूरल मार्ट के लिए एक घर किराए पर लेना होता है और इससे होने वाली आमदनी भी जैविक दीदियों में बितरित होगी इसे चलाने के लिए तीन वॉलन्टियर भी होंगे जो इसकी देखभाल और ब्यपार करेंगे । गौरतलब है की राज्य में जीविका के तहत दस लाख 30 हजार स्वयं सहायता समूह हैं। इस समूह से एक करोड़ 27 हजार से अधिक परिवारों को जोड़ा गया है। इन स्वयं सहायता समूह को बैंकों द्वारा करीब 16 हजार 700 करोड़ का लोन अब-तक उपलब्ध कराया गया है। बिहार सरकार के इस योजना से जीविका दीदियों के उत्थान में मदद मिलेगी ।