सिंघु बॉर्डर पर आज होगी संयुक्त किसान मोर्चा की अहम बैठक,क्या होगा किसानो का अगला कदम

0
9

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कृषि कानून के वापस लिए जाने के बाद किसान काफी खुश है । लेकिन उन्होंने कहा है की जब तक हमारी जायज मांगे पूरी नहीं हो जाती वो आंदोलन करते रहेंगे । आज दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर संयुक्त किसान मोर्चा की अहम बैठक होनी है । आंदोलन के क्रम में किसान नेताओं ने कहा संसद तक होने वाले ट्रैक्टर मार्च के कार्यक्रम में भी कोई बदलाव नहीं किया गया है . किसानो द्वारा 22 नवंबर को होने वाली लखनऊ किसान महापंचायत को भी लोगों से सफल बनाने की अपील की जा रही है। दरअसल किसान नेताओं ने 22 नवंबर को एक महपंचायत रखने की घोषणा की है जिसमे उन्होंने देश के सभी किसानो से शामिल होने की अपील कर रहें है इस महपंचायत का उदेस्य सरकार के द्वारा लिए गए फैसले का विरोध करना है और किसानो के लिए उचित मांग करना है ।

इसके अलावे किसान नेताओं ने यह कहा की 29 नवंबर को शुरू होने वाले संसद तक ट्रैक्टर मार्च के कार्यक्रम में कोई बदलाव नहीं किया गया है. उन्होंने कहा की बैठक के बाद संयुक्त किसान मोर्चा की 3 बजे सिंघु बॉर्डर पर प्रेस कॉन्फ्रेंस होगी.बता दें कि 26 नवंबर को किसान आंदोलन को शुरू हुए एक साल पूरा हो जाएगा. संयुक्त किसान मोर्चा ने अपील है कि ज्यादा से ज्यादा किसान आंदोलन में भाग लें और किसान आंदोलन की पहली वर्षगांठ को सफल बनाएं। संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा की इस पुरे किसान आंदोलन में अब तक 670 से ज्यादा किसान शहीद हो चुके हैं और भारत सरकार उनके बलिदान को स्वीकार नहीं कर रही है. हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली, चंडीगढ़, मध्य प्रदेश और अन्य जगहों पर किसानों के खिलाफ सैकड़ों झूठे केस दर्ज किए गए हैं. बहरहाल किसान के इन अगले कदमो पर सरकार कए फैसला लेती है यह देखना होगा