खत्म हुआ इंतजार , दुर्गा पूजा पर इस बार पंडालों में विराजेंगी माता रानी

0
20

कोरोना महामारी की वजह से पिछले साल दुर्गा पूजा के समय पंडालों में माता रानी की प्रतिमा स्थापित नहीं जा रही थी लेकिन इस बार दुर्गा पूजा पंडाल में ही होगी. पूजा समितियां भव्य पंडाल में मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित कर सकती हैं. हालांकि इसके लिए पूजा समितियों को हर साल की तरह इसबार भी जिला प्रशासन से लाइसेंस लेना होगा.*
बता दें कि कोरोना की वजह से पिछले साल पंडाल में मां दुर्गा की प्रतिमा की स्थापना पर रोक लगाई गई थी. उस जगह पर कलश पूजा की गई थी. इस बार जिला प्रशासन की तरफ से हरी झंडी मिलने के बाद पूजा समितियों में उत्साह का माहौल है. पूजा आयोजन को लेकर सभी समितियां अपने सदस्यों को सूचना दे चुकी है. कई पूजा समितियों ने मूर्ति और पंडाल निर्माण के लिए कारीगरों से बात भी कर ली है. कारीगरों को एक सप्ताह तक का समय भी दिया जा चुका है.

नवयुवक संघ श्री दुर्गापूजा समिति, डाकबंगला के ट्रस्टी एवं कोषाध्यक्ष अमित कुमार बरुआ ने कहा कि पंडाल निर्माण और भव्य मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित करने के लिए सितंबर महीने के पहले सप्ताह में निर्णय लेंगे. इसको लेकर बातचीत हो रही है. पिछले साल कलश और मां दुर्गा का फोटो रख कर पूजा की गई थी. इस बार माँ दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की जाएगी.