मशहूर कथक डांसर और पद्मविभूषण से सम्मानित पंडित बिरजू महाराज का 83 साल के उम्र में निधन।

0
117

कथक डांसर और पद्म विभूषण से सम्मानित पंडित बिरजू महाराज का आज 83 साल के उम्र में निधन हो गया। ताज मिल रही जानकारी के मुताबिक़ पंडित बिरजू महारज कल राति के भोजन के बाद अपने शिष्यों और परिवार के बिच बैठ कर हसी ठिठोली कर रहे थे तभी उनकी तबियत अचानक से बिगड़ी। परिवार वाले उन्हें जल्द ही अस्पताल ले गए पर वहां उनकी मृत्यु हो गई।

गुर्दे के बिमारी से थे परेशान

पंडित बिरजू महराज के घर वालों ने बताया की वह लम्बे समय से अपने गुर्दे की बिमारी से परेशान थे ,वह कुछ कुछ दिन पर अपना डायलिसिस करवाते रहते थे। उनकी पोती का कहना है की उनकी मृत्यु संभवतः कार्डियक अरेस्ट की वजह से हुई है।

कला के थे धनि ब्यक्तित्व

पंडित बिरजू महाराज कला के धनि और बहुमुखी प्रतिभा वाले ब्यक्तित्व थे। वह आजीवन कला की सम्मान में नतमस्तक होते रहे हैं। वह एक नर्तक के अलावे एक गुरु, कोरियोग्राफर, गायक और कंपोजर थे. वे तालवाद्य बजाते थे, कविता लिखते थे और चित्रकारी भी करते थे। एक ब्यक्ति में कला की बिभिन्न सैलियाँ और उनमे महारत हासिल होना यह दर्शाता है की वह ब्यक्ति कला से कितना जुड़ा हुआ है। पंडित बिरजू महाराज ने कई बॉलीवुड फिल्मो को कोरिओग्राफ भी किया है। जिनमे उमराव जान, डेढ़ इश्कियां, बाजीराव मस्तानी जैसी फिल्में शामिल हैं।

1983 में मिला था पद्मविभूषण

सन 1983 में पंडित बिरजू महाराज को कल के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए पद्म बिभूषन से नवाजा गया। इसके अलावे पद्म विभूषण के अलावा उन्हें संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार और कालिदास सम्मान भी मिल चुका है. वहीं 2012 में विश्वरूपम फिल्म में कोरियोग्राफी के लिए उन्हें राष्ट्रीय फिल्म पुरष्कार से नवाजा गया। पंडित बिरजू महाराज के निधन से बॉलीवुड जगत सहित पुरे दश में शोक की लहार दौर गई है।

सितारों ने जताया दुःख

प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने ट्वीट कर के पंडित बिरजू महराज को श्रद्धांजलि दी है , उन्होंने लिखा “भारतीय नृत्य कला को विश्वभर में विशिष्ट पहचान दिलाने वाले पंडित बिरजू महाराज जी के निधन से अत्यंत दुख हुआ है। उनका जाना संपूर्ण कला जगत के लिए एक अपूरणीय क्षति है। शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और प्रशंसकों के साथ हैं। ओम शांति!”

पंडित बिरजू महाराज के निधन पर गायक अदनान शमी ने ट्वीट कर के दुःख जताया है। उन्होंने लिखा “महान कथक नर्तक-पंडित बिरजू महाराज जी के निधन की खबर से अत्यंत दुखी हूं।
हमने एक अद्वितीय संस्थान खो दिया है ” अदनान शामी के अलवा थिएटर और फिल्मो की अभिनेत्री रही मालिनी अवस्थी ने भी उनके निधन पर दुःख जताया है। भारत ने आज पंडित बिरजू महाराज के रूप में एक अनमोल रत्न खो दिया है।