बिहार विधानसभा के मानसून सत्र का आज पांचवा और आखिरी दिन है

0
80

अग्निपथ योजना को लेकर मानसून सत्र में विपक्ष का विरोध लागातार जारी है और अंतिम दिन भी कुछ ऐसा ही नजारा दिखने को मिलेगा। खास बात यह होगी कि राजद अब सदन में सबसे बड़ी पार्टी हो गई है तो इसका असर कार्यवाही के दौरान पार्टी के मनोबल पर भी पड़ेगा।

पटना. बिहार विधानसभा के मानसून सत्र का आज पांचवा और आखिरी दिन है। आखिरी दिन की कार्यवाही में गैर सरकारी संकल्प ले जाएंगे। इसके बाद गत 24 जून से शुरू हुए सत्र की कार्यवाही को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया जाएगा। हालांकि, सत्र के एक दिन पहले बिहार के सियासी हलचल का असर विधान सभा में दिखेगा।
दरअसल बुधवार को असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के पांच में से चार विधायकों ने आरजेडी की सदस्यता ले ली।
इसके साथ ही आरजेडी अब बिहार विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी हो गई है। 80 विधायकों के साथ जब राजद विधान सभा में मौजूद रहेगी तो उसका असर कार्यवाही पर भी दिखेगा।

बता दें कि बुधवार को सत्र के चौथे दिन बिना विपक्ष के ही सदन की कार्यवाही संचालित की गई। पहले हाफ में प्रश्नकाल में कई प्रश्नों के उत्तर हुए तो वहीं ध्यान कर्षण में भी सरकार ने सत्ताधारी दल के सदस्यों के प्रश्नों का उत्तर दिया, क्योंकि विपक्ष सदन में मौजूद नहीं था।
इसलिए उनके प्रश्न नहीं पूछे जा सके। लेकिन, दूसरे हाफ में सरकार ने सदन से प्रथम अनुपूरक बजट को पास करा लिया।