निगम में नौकरी दिलाने के नाम पर बिहार में हो रहा फर्जीवाड़ा ;प्रशाशन ने स्टार्क रहने की दी नशीहत

0
15

बिहार में फर्जीवाड़े का मामला दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है । इन फर्जीवाड़े में सबसे ज्यादा नौकरी दिए जाने को ले कर हुआ है । पिछले कुछ म्हणो में ऐसे कई मामले सामने आये हैं जहा नौकरी दिलाने के नाम पर लोगून से पैसे ऐंठे जा रहे हैं । ऐसा ही एक ताजा मामला बिहार के नवादा जिले से आई जब एक लड़की और एक लड़का फर्जी ज्वाइिनंग लेटर लेकर महिला एवं बाल विकास निगम में योगदान देने पहुंचे। नियुक्ति पत्र में निगम का पुराना पता अंकित था। महिला एवं बाल विकास निगम के पदाधिकारियों ने मामले की जांच की तो पाया कि पत्र फर्जी है। इसको लेकर निगम के परियोजना निदेशक की ओर से सचिवालय थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

पूछताछ में पता चला की लोगो ने ब्रोकर के कहने पर पैसे दे कर नौकरी लेने का प्रयास किया है और ब्रोकर ने उन्हें यकीं दिलाने के लिए उन्हें फर्जी योगदान पत्र भी दे डाले हैं । महिला एवं बाल विकास निगम, बिहार के परियोजना निदेशक अजय श्रीवास्तव ने उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि इस प्रकार के किसी भी व्यक्ति /संस्था के दावे से दूर रहें। निगम में किसी भी पद के नियुक्ति की एक निर्धारित प्रक्रिया है। और उसपे नियमानुसार ही बहाली की जाती है मगर फिलहाल निगम के किसी भी पद के लिए कोई भी बहाली या नियुक्ति नहीं ली जा रही है अगर ऐसा होगा तो आधिकारिक सुचना लोगों को समचारपत्र द्वारा या महिला एवं बाल विकास निगम की वेबसाइट पर सूचना प्रकाशित की जायेगी । इसलिए जब तक ऐसी कोई सुचना ना आये तब तक ऐसी बातों से दूर और सतर्क रहें । ऐसा पहली बार नहीं है जब निगम में नौकरी दिलाने के नाम पर फर्जीवाड़ा हुआ है इसके पहले भी 7 लोगों ने फर्जीवाड़े का शिकार हुए हैं । बहरहाल लोगों से यह आग्रह किया गया है की ऐसे मामलों में सत्रक रहें ।।