पटना में छात्र ने दो लड़कियों को मकान के चौथे फ्लोर से नीचे फेंका, एक की मौत

0
48

पटना में छात्र ने दो लड़कियों को मकान के चौथे फ्लोर से नीचे फेंका, एक की मौत
बहादुरपुर थाना क्षेत्र के संदलपुर के शिवशक्ति नगर स्थित मुन्ना प्रसाद के मकान में रहने वाले किराएदार संतरा के थोक कारोबारी नंद लाल की दोनों बेटियों को एक सिरफिरे युवक ने चार मंजिला मकान की छत से गुरुवार की शाम नीचे फेंक दिया। इसमें छोटी पुत्री 12 वर्षीया शालू की मौके पर ही मौत हो गई। बड़ी पुत्री 14 वर्षीया सोनाली को लोग गंभीर हालत में इलाज के लिए पीएमसीएच ले गए। इससे आक्रोशित लोगों ने चाकू लेकर भाग रहे आरोपित विवेक कुमार विभाकर को पकड़ पीटने लगे। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपित को भीड़ के कब्जे से छुड़ाया।

घटना से आक्रोशित लोगों ने पुलिस टीम पर पथराव किया। पत्थरबाजी में थानाध्यक्ष सनोबर खान, दारोगा सूर्यकांत कुमार, बाडी गार्ड रवि, पुलिसकर्मी रामावतार व दो अन्य पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। आरोपित विवेक को पुलिस ने बहादुरपुर थाना में रखा। उसे हवाले करने की मांग कर रहे लोगों ने थाना के बाहर जाम कर दो आटो में आग लगा दिया। एसडीओ मुकेश रंजन व डीएसपी अमित शरण ने लोगों को समझाकर मामला शांत कराया। दारोगा वीणा कुमारी ने बताया कि छत से गिरते ही शालू की मौत हो गयी। सोनाली का पीएमसीएच में इलाज चल रहा है। उसकी कमर की हड्डी टूट गयी है।
स्वजनों ने बताया कि दोनों बहनें छत पर कपड़ा फैलाने गई थीं। इसी दौरान सिरफिरा विवेक चाकू लेकर छत पर पहुंचा और बारी-बारी से दोनों बहनों को छत से नीचे फेंक दिया। वार्ड 47 के पार्षद सतीश कुमार ने बताया कि नंदलाल गुप्ता उत्तर प्रदेश के देवरिया किशनपुर के रहने वाले हैं। लगभग 20 वर्षों से बाजार समिति मंडी में फल का कारोबार कर रहे हैं।
शाम लगभग 7:30 बजे एसडीओ व डीएसपी नागरिकों को समझा रहे थे। इसी दौरान जल रहे आटो का शीशा फूट गया। शीशा फूटते ही नागरिक भागने लगे। पुलिस ने सड़क पर लोगों द्वारा लगाए गए बांस को हटाया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कई वाहन वालों को अस्पताल ले चलने का अनुरोध किया गया तो वह तड़पती दोनों किशोरियों का मोबाइल से वीडियो बनाने में जुटे थे।