Jal Jeevan Hariyali Abhiyan: बिहार के पूर्वी चंपारण और गया जिले को राष्ट्रपति से मिला राष्ट्रीय सम्मान

0
330

Bihar News: जल-जीवन-हरियाणा के अंतर्गत बिहार के दो जिलों को सम्मान मिलने पर राज्य के मुख्य सचिव आमिर सुबहानी काफी खुश हैं। उन्होंने कहा कि जल-जीवन-हरियाली अभियान सभी जिलों में चल रहा है। केंद्र के द्वारा भी जल शक्ति अभियान ‘कैच द रेन’ चलाया जा रहा है। बिहार में यह पहले से चल रहा है। राज्य के दो जिले पूर्वी चंपारण और गया के डीएम को पुरस्कार दिया है

पटना. केंद्र सरकार के द्वारा चलाए जा रहे जल-जीवन-हरियाली (Jal Jeevan Hariyali) के अंतर्गत बिहार के दो जिलों- पूर्वी चंपारण (East Champaran) और गया (Gaya) को जल शक्ति अभियान (Jal Shakti Abhiyan) ‘कैच द रेन’ के तहत राष्ट्रीय सम्मान मिला है। इन दोनों जिलों के जिलाधिकारी (डीएम) को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) के हाथों यह सम्मान मिला है.।

 

बिहार (Bihar) को सम्मान मिलने पर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी काफी खुश हैं। उन्होंने कहा कि जल-जीवन-हरियाली अभियान सभी जिलों में चल रहा है। केंद्र के द्वारा भी जल शक्ति अभियान ‘कैच द रेन’ चलाया जा रहा है। बिहार में यह पहले से चल रहा है। राज्य के दो जिले पूर्वी चंपारण और गया के डीएम को पुरस्कार दिया है।

राष्ट्रपति से पुरस्कार मिलने के बाद पूर्वी चंपारण के डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने कहा कि वाटर कंजर्वेशन एरिया में वाटर मैनेजमेंट के लिए पुरस्कार मिला है। पूर्वी चंपारण जिले में इस पर कई काम किए गए हैं। बिहार सरकार के कई विभागों से मदद मिली है। वहीं, गया के डीएम त्यागराजन एस. एन ने कहा कि जिले के टेकारी पंचायत में पीने का शुद्ध पानी पहुंचाया गया है। चेक डैम बनाया गय। लोगों की निजी जमीन पर तालाब की खुदाई की गई है। इसका परिणाम यह हुआ कि एक किलोमीटर के रेडियस में भू-जल स्तर बढ़ गया है. इससे सिंचाई और मत्स्य पालन में मदद मिली है।